इन 19 लाख वाहनों की RC हो सकती है सस्पेंड, नोटिस भेज रही सरकार

दिल्ली में प्रदूषण प्रमाण पत्र (पीयूसी) नहीं रखने वाले वाहन मालिकों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर सरकार सख्त हो गई है.

अधिकारियों ने कहा कि जिनके पास वाहनों का वैध प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र नहीं है, उनका पंजीकरण प्रमाणपत्र निलंबित किया जा सकता है

कार्रवाई के सिलसिले में दिल्ली परिवहन विभाग की ओर से उन वाहन मालिकों को नोटिस जारी किए जा रहे हैं जिनके वाहनों के पास वैध पीयूसी नहीं है.

इसमें उन्हें चेतावनी दी जा रही है कि यदि वे एक सप्ताह के भीतर पीयूसी नहीं लेते हैं, तो पंजीकरण प्रमाणपत्र निलंबित किया जा सकता है।

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में करीब 19 लाख वाहन ऐसे हैं जिनके पास वैध पीयूसीसी नहीं है

हालांकि, यह जानने के लिए फिलहाल कोई तकनीक नहीं है कि पीयूसी के बिना वाहन सड़कों पर चल रहे हैं या नहीं।

अधिकारी ने कहा कि वाहनों से होने वाला प्रदूषण दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के मुख्य कारणों में से एक है, खासकर सर्दियों के महीनों के दौरान।

गौरतलब है कि इससे पहले दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा है कि 25 अक्टूबर से वैध पीयूसीसी दिखाए बिना वाहन मालिकों को दिल्ली के पेट्रोल पंपों पर ईंधन नहीं मिलेगा.

अधिकारियों के अनुसार, पेट्रोल पंपों के लिए इस निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने प्रवर्तन टीमों का गठन किया है।

दिल्ली में वाहनों का प्रदूषण बहुत अधिक है, इसे नियंत्रित करने के लिए सरकार वाहनों के पीयूसी पर ध्यान दे रही है।

किसी भी वाहन का पीयूसी प्राप्त करना दर्शाता है कि वाहन प्रदूषण के संबंध में सरकार द्वारा निर्धारित मानदंडों को पूरा करता है।