दुनिया के पहले इलेक्ट्रिक विमान एलिस ने उड़ान भरी,जानिए डिटेल

ईवी के इस दौर में अब तक हम ई-स्कूटर, ई-कार, ई-साइकिल के बारे में सुनते आए हैं।

लेकिन अब इलेक्ट्रिक प्लेन भी आ गया है और दुनिया के पहले इलेक्ट्रिक प्लेन ने अपनी पहली उड़ान सफलतापूर्वक पूरी कर ली है।

इज़राइल के एविएशन एयरक्राफ्ट द्वारा बनाए गए इस ऑल-इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट को एलिस के नाम से जाना जाता है।

शून्य उत्सर्जन वाले इस हवाई जहाज ने वाशिंगटन के ग्रांट काउंटी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से अपनी पहली उड़ान भरी

इस दौरान वह 8 मिनट तक सुरक्षित हवा में रही और उसके बाद सामान्य लैंडिंग की।

विमान की खास बात यह है कि इसकी रफ्तार 480 किमी प्रति घंटा है। इसमें नौ लोग यात्रा कर सकते हैं और यह 250 नॉटिकल मील यानी करीब 400 किमी है।

दूरी तय की जा सकती है। इसे आसानी से दो घंटे तक उड़ाया जा सकता है। विमान को 2500 पाउंड यानी करीब 1100 किलोग्राम भार के साथ उड़ाया जा सकता है।

अपनी पहली ही उड़ान में एलिस ने 3500 फीट की ऊंचाई को छुआ और इस दौरान कई अहम जानकारियां भी जुटाईं।

ये आंकड़े विमान को व्यावसायिक रूप से इस्तेमाल करने के बारे में थे, ताकि यह पता चल सके कि इसे कैसे बेहतर बनाया जा सकता है।

एविएशन एयरक्राफ्ट कंपनी के अध्यक्ष और सीईओ ग्रेगरी डेविस ने कहा कि यह इतिहास बन गया है।

जब से हम पिस्टन इंजन से टर्बाइन इंजन में आए हैं, तब से विमानन तकनीक में कोई बदलाव नहीं आया है।

यह 1950 में हुआ था जब यह नई तकनीक आई थी और तब से अब तक कोई खास बदलाव नहीं आया है।

कंपनी विमान के तीन वेरिएंट पर काम कर रही है। जो अभी प्रोटोटाइप स्टेज में है। इसका कार्गो वेरिएंट है, दूसरा 9 सीटर और तीसरा कार्गो के साथ 6 सीटर वेरिएंट है।

इन सभी वेरिएंट में दो क्रू मेंबर्स के लिए भी जगह होगी। Elise में 640 kW की इलेक्ट्रिक मोटर दी गई है।

डीएचएल एक्सप्रेस विमान बनाने से पहले ही कंपनी के साथ डील कर चुकी है और अब कंपनी डीएचएल को 12 ऐलिस सप्लाई करेगी।