डीलर को नया बताकर न बेचें पुराना टायर, पहचान जाएगी यह एक तरकीब

कार मॉडिफिकेशन भी एक लत है। कई लोग कार को जरूरत के हिसाब से मॉडिफाई करते हैं तो कुछ शौक के तौर पर.

वाहनों में टायर बदलना भी अब आम हो गया है। कई लोग कार में कंपनी से टायर निकाल कर दूसरे टायर लगवाते हैं।

इसके अलावा एक निश्चित समय सीमा के बाद हमें खुद गाड़ी के टायर बदलवाने होते हैं।

इस तरह की धोखाधड़ी का शिकार कोई भी हो सकता है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसी ट्रिक के बारे में बता रहे हैं

जिसके जरिए आप पता लगा सकते हैं कि आप जो टायर खरीद रहे हैं, वह एकदम नया है या थोड़ा इस्तेमाल हुआ है।

दरअसल, इस फ्रॉड से ग्राहकों को बचाने के लिए टायर कंपनियां खुद अलर्ट हो गई हैं.

इन दिनों कंपनियों ने टायरों पर अपनी ब्रांडिंग देनी शुरू कर दी है। यानी टायर के किनारे पर कंपनी का नाम लिखा होगा

साथ ही टायर के उस हिस्से पर नाम लिखा होगा, जो सड़क पर चलते समय जमीन को छूता है.

ऐसे में अगर टायर थोड़ा ज्यादा चला है तो यहां से ब्रांडिंग खराब हो जाएगी। आप इस ब्रांडिंग को देखकर तुरंत पता लगा सकते हैं कि टायर खराब हो गया है या बिल्कुल नया है।

इसलिए जब भी आप कोई टायर खरीदने जाएं तो जांच लें कि टायर की सतह पर कंपनी की ब्रांडिंग सही है या धुंधली।